Fabiflu क्या है? Coronavirus के खिलाफ यह दवा कितनी कारगर है

आज हम इस आर्टिकल में “Fabiflu kya hai” के बारे में जानने वाले हैं। बहुत दिनों के बाद Coronavirus के दवाई को लेकर एक खुश ख़बरि सामने आयी है. शनिवार को मुंबई स्थित फार्मा कंपनी Glenmark ने Fabiflu नामक दवाई की जानकारी दी है.

कंपनी के मुताबिक यह दवा शुरुआती दौर में गुजर रहे कोरोनावायरस में पीड़ित मरीजों के लिए बहुत ही कारगर हो सकता है. हम आपको बता दें की ग्लेनमार्क ने Favipiravir दवा को Fabiflu ब्रांड से पेश किआ है और इसका production लिए DGCA (Drug Controller General of India) से भी मंजूरी मिल गयी है.

Fabiflu
Fabiflu

About Fabiflu in Hindi:

दोस्तों आज हम आपको इस सेक्शन हम आपको  फेबिफ्लू दवाई के बारे मैं जानकारी देनेवाले हैं . आगे बढ़ने से पहले हम आपको एक बात क्लियर कर देना चाहते हैं की Fabiflu कोई वैक्सीन नहीं है वल्कि यह सिर्फ एक दवाई है.

शनिवार को मशहूर भारतीय फार्मा कंपनी Glenmark ने की Coronavirus के लिए एक दवा पेश किआ है. इस दवा का नाम Fabiflu रखा गया है. जब ग्लेनमार्क ने इस दवाई की रिवील किआ तब कुछ मेडिकल एक्सपर्ट ने कहा कि यह मेडिसिन corona के खिलाफ रामवाण जैसा काम कर सकता है.

हम आपको बात दें की Favipiravir को जापान में Toyama Chemical नमक एक कंपनी ने अविष्कार किआ था. फिर यह मेडिसिन जापान में इन्फ्लुएंजा बीमारी को ठीक करने के लिए इस्तेमाल किए जाने लगा. बाद में इस दवाई को कोरोनावायरस के लिए भी जापान की सरकार ने मंजूरी दे दी. फिर इस दवाई का बेहतरीन असर देख चीन, रूस, बांग्लादेश, UAE समेत बहुत सारे देश इसको इस्तेमाल करने लगे.

Fabiflu कैसे काम करता है और Fabiflu का इस्तेमाल

Fabiflu का एक सबसे अच्छी बात है की यह एक ओरल ड्रग है यानि की इसे खाया जा सकता है. पहले Covid-19 मरीजों को दिए जाता था जैसे की Remdisiver एक Intravenous दवा था. इसलिए Fabiflu बाकि दवाइयों के तुलना में लेना बहुत आसान है और इससे डॉक्टरों को भी कोरोना होने का खतरा काम हो जाता है.

remdesivir
remdesivir

दिल्ली के एक प्रसिद्ध फुफ्फुसीय विशेषज्ञ के अनुसार यह दवाई हमारे शरीर के कोशिकाओं में जा कर Covid-19 को बढ़ने से रोकता है. जिसके वजह से यह बीमारी हमारे शरीर में ज्यादा फैलता नहीं है. उन्होंने यह भी कहा है की इसे हमें Early Stages पर ही लेना चाहिए और ज्यादा Critical Situation में यह इस दवाई का इस्तेमाल करने से ज्यादा सफलता नहीं मिल सकता है।

आज भी कुछ देश में इस दवाई का परिक्षण चल रह है. कनाडा में करीब 760 से ज्यादा लोगों पर इसका परिक्षण चल रहा है. रूस में इसका रिजल्ट शानदार रहा और जापान में किए गए परिक्षण के द्वारा करीब 88 प्रतिशत लोग ठीक हुए हैं. इस नतीजे को देख भारत में भी इसका इस्तेमाल करने के लिए सरकार ने मंजूरी दे दी है.

Fabiflu कैसे और कहाँ मिलेगा:

दूसरे देशों के साथ साथ Fabiflu का भारत में भी परिक्षण किआ गया था. और इसका नतीजा बहुत ही शानदार रहा. करीब 80% लोग जिन्हे कोरोनावायरस का शुरुआती दौर था उन्हें इससे बहुत ही फायदा हुआ. जिसे देखते हुआ भारतीय ड्रग नियामक बोर्ड ने इसे भारत में इस्तेमाल करने की मंजूरी दे दी.

ग्लेनमार्क फार्मा का कहना है की यह दवाई सिर्फ एक स्पेशलिस्ट डॉक्टर के देख रेख में ही लिया जा सकता है. यह दवाई आनेवाले कुछ ही समय के बाद अपने नजदीक Medicine Stores में उपलब्ध होगा। इसका प्रति Tablet का मूल्य मात्र 103 रुपये रखा गया है. एक Strip में 34 टेबलेट्स होती है और एक पट्टी का मूल्य करीब 3500 रुपये रखा गया है.

उन्होंने यह भी कहा है की यह एक Doctor के Prescription पर आधारित दवा है, जिसकी सिफारिश की गई doses दिन में दो बार रोजाना 1,800 मिलीग्राम, उसके बाद 800 मिलीग्राम दिन में दो बार दैनिक 14 दिन तक होती है।

कंपनी का कहना है इसे मामूली संक्रमण वाले diabetes और heart patient ( दिल की बीमारी) भी ले सकते हैं. कुछ जानकारों का यह भी कहना है इस दवाई से प्रेगनेंट महिला को कुछ परेशानिअ आ सकती है. मगर इसका पक्का नतीजा आने वाले दो-तीन महीनो में पता चल जायेगा।

हाल ही भारत में कोरोनावायरस का केस कुछ ज्यादा ही बढ़ता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में करीब 15,000 कैसे दर्ज हुए हैं। इसके साथ कुल केस संख्या 4 लाख पार कर चुकी हैं।

हम सबको पता है कि कोरोना के खिलाफ इस जंग को जीतने के लिए वैक्सीन ही एक मात्र अस्त्र है। मगर इस संकट की परिस्थिति में Fabiflu के आने से लोगों को कुछ राहत मिल सकती है। मगर हम आपको एक ही बात कहेंगे कि Prevention is Better than Cure। इसलिए Stay Home Stay Safe।

अगर यह पोस्ट आपको अच्छा लगा है तो नीचे लाइक का बटन दवा कर हमें लाइक करें और इसे अपने दोस्तों के साथ निश्चित रूप से शेयर करें। धन्यवाद।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here